Monday, 23 November 2015

घर के देवता ल छोड़ के....















घर के देवता ल छोड़ के भिंभोरा पूजे ले जाय
नकली-चकली के चक्कर म चीज ल लुटवाय
चिथिया जावय चारोंमुड़ा ले त नंगत गोहराय
अरे कइसे आही खुशहाली जब तोर देव लुलुवाय
* जय कुल देवता - जय मूल देवता *
सुशील भोले - 9826992811

No comments:

Post a Comment