Saturday, 21 May 2016

तुतारी // झिरिया के पानी...

हमन लइका रेहेन त हमर गाँव ले बोहाने वाला कोल्हान नरवा म गरमी के दिन म झिरिया कोडऩ अउ वोमा कूद-कूद के नहावन। वो लइका पन के उमंग रिहिस हे। फेर आज इही झिरिया लोगन के जीए के सहारा बनत हे। इहां के कई क्षेत्र ले अइसन सोर मिलत हे,  के नंदिया-नरवा, कुआं-बावली, बोरिंग-सोरिंग मन झुक्खा परगे हें। लोगन जीव बचाए बर झिरिया कोड़ के बूंद-बूंद पानी सकेलत हें। सरकार ल एकर ऊपर गंभीरता ले सोचना चाही। इहां अतेक नंदिया-नरवा हे। बरसात म वोकर पानी ल रोके-छेंके के कुछु उदिम करना चाही, तेमा गरमी म अइसन ताला-बेली के बेरा मत आवय।
सुशील भोले
9826992811, 808530593

No comments:

Post a Comment