Monday, 18 December 2017

जब मैं बसथंव जी मानव-सेवा के ..

जब मैं बसथंव जी मानव-सेवा के निरमल ग्रंथ म
तब काबर खोजथस तैं मोला जाति धरम अउ पंथ म
सिरतोन संगी एकरे सेती भटकत हस कतकों योनी म
अब समझ मोला पाए के रद्दा नइते फेर जाबे पुरोनी म

-सुशील भोले
संजय नगर, रायपुर
मो. 9826992811

No comments:

Post a Comment