Sunday, 6 December 2015

मनहर चौहान का कहानी पाठ...


राजधानी रायपुर की सक्रिय साहित्यिक संस्थाओं की ओर से हिंदी के प्रतिष्ठित कथाकार एवं संपादक (दमखम, मुंबई)  मनहर चौहान जी का कहानी पाठ का आयोजन  शनिवार 5 दिसंबर 2015  को, वृन्दावन सभाकक्ष में रखा गया था । उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व से परिचय कराने का सुखद अवसर मुझे प्राप्त हुआ।
ज्ञातव्य है,  चौहान जी की अब तक 50 से अधिक किताबें प्रकाशित-समादृत हो चुकी हैं, उन्हें म.प्र. साहित्य परिषद, शिक्षा मंत्रालय (भारत सरकार), उ.प्र. हिंदी संस्थान, संस्कृति मंत्रालय (भारत सरकार) के साथ-साथ सारिका कहानी पुरस्कार, जीवन गौरव पुरस्कार, समाज गौरव सम्मान, सृजनगाथा सम्मान आदि सम्मानों व पुरस्कारों से अलंकृत किया जा चुका है। उन्हें बधाई एवं भविष्य के लिए शुभकामनाएँ.....

No comments:

Post a Comment